सूरजकुंड हस्तशिल्प मेला में राजस्थानी कलाकारों द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियां

जयपुर। नई दिल्ली के निकट सूरजकुंड में आयोजित 15 दिवसीय सूरजकुंड हस्तशिल्प मेला के मंगलवार रात राजस्थान के लोक कलाकारों ने अपनी आकर्षक एवं मनमोहक प्रस्तुतियां दी। सांस्कृतिक – संध्या में बस्सी के बनवारी लाल जाट एवं दल के सदस्य कच्ची घोड़ी, पाबूसर,चूरू के गोपाल गीला एवं साथियों ने चंग ढ़प नृत्य,अलवर के यूसुफ खान एवं दल सुविख्यात भपंग वादन,भनोखर,अलवर के बनय सिह प्रजापत एवं दल ने रीम भवई नृत्य,जोधपुर के रफ़ीक लँगा एवं साथी कलाकारों ने खड़ताल वादन एवं राजस्थानी गायन, दिल्ली के अनिशुद्दीन एवं साथी चरी नृत्य तथा  वीरेंद्र सिह गौड़ एवं दल घूमर नृत्य,भरतपुर के ही जितेंद्र पराशर एवं साथी कलाकार अपना लोकप्रिय मयूर डान्स और फूलों की होली एवं जयपुर की सुआ सपेरा ने अपनी साथी नृत्यांगनाओं के साथ कालबेलिया डान्स की प्रस्तुतियां दें कर दर्शकों का मन मोह लिया।  राजस्थान पर्यटक स्वागत केंद्र ,नई दिल्ली की अतिरिक्त निदेशक गुंजीत कौर एवं सहायक निदेशक श्रीमती सुमिता मीना ने बताया कि सूरजकुंड हस्तशिल्प मेला में राजस्थान मंडप को सैकड़ों लोग प्रतिदिन देख रहे है । पर्यटन विभाग,राजस्थान द्वारा लगायें स्टॉल में राजस्थान के सुप्रसिद्ध पर्यटक स्थलो को दर्शाया गया है एवं तदसम्बन्धित जानकारी दी जा रही है।  सूरजकुंड मेंअन्य प्रदेशों के साथ ही राजस्थान की बहुरंगी एवं अनूठी संस्कृति के विविध रंगों को देखने भारी भीड़ उमड़ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *