सबके चेहरे पर खुशी की चमक देखना चाहती है सरकार: मुख्यमंत्री

बांसवाड़ा। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि बांसवाड़ा जनजाति बहुल इलाका है। यहां के लोग सीधे-साधे और दिल के साफ हैं। उन्होंने कहा कि सरकार आप सबके चेहरे पर हमेशा खुशी की चमक देखना चाहती है और इस दिशा में हरसम्भव प्रयास कर रही है। राजे सोमवार को कुशलगढ़ के जोगणिया माता धाम में पूजा-अर्चना करने के बाद पास ही उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने इस क्षेत्र के विकास के लिए हरसम्भव प्रयास किया है। क्षेत्र में 26 गौरवपथ का निर्माण करने के साथ ही 71 ग्राम पंचायतों में मिसिंग लिंक के कार्य करवाए गए हैं। यहां के 399 गांवों को पीने का पानी मुहैया करवाने के लिए 800 करोड़ रुपए की योजना तैयार की गई है, जिसका कार्य जून के अंतिम सप्ताह में प्रारम्भ कर दिया जाएगा। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने राजे का चुनरी ओढ़ाकर अभिनंदन किया और लोक संस्कृति से संबंधित तस्वीर भेंट की।
इससे पहले मुख्यमंत्री ने जोगणिया माता धाम में पूजा-अर्चना कर देश और प्रदेश की खुशहाली की कामना की। राजे को पंडित दीपेश भट्ट एवं गजेन्द्र त्रिवेदी ने विधिवत मंत्रोच्चार के साथ पूजा सम्पन्न करवाई। पूजा के पश्चात राजे ने यहां उपस्थित करीब 75 संतों के चरण छूकर आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मंदिर के विकास के लिए दस लाख रुपए देने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि यह राशि मंदिर परिसर के विकार्स पर खर्च की जाएगी। इस अवसर पर ग्रामीण विकास राज्यमंत्री धनसिंह रावत, संसदीय सचिव भीमा भाई, सांसद मानशंकर निनामा, अनुसूचित जनजाति आयोग की अध्यक्ष प्रति खराड़ी, सम्भागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा, आईजी आनंद श्रीवास्तव, जिला कलक्टर भगवती प्रसाद व जिला पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारीगण उपस्थित थे।
कुशलगढ़ में जनसंवाद कार्यक्रम: नए मेडिकल कॉलेजों से दूर होगी चिकित्सकों की कमी
मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि प्रदेश के अस्पतालों में चिकित्सकों की कमी दूर करने के हमारे प्रयासों के सकारात्मक परिणाम आने लगे हैं। राजस्थान देश का पहला ऎसा राज्य है जहां हम एक साथ पांच मेडिकल कॉलेज शुरू करने जा रहे हैं। आने वाले समय में इन मेडिकल कॉलेजों से प्रदेश में चिकित्सकों की कमी दूर हो जाएगी। डूंगरपुर में खुलने वाले मेडिकल कॉलेज का फायदा बांसवाड़ा, डूंगरपुर, प्रतापगढ़ जैसे जनजाति बहुल सीमावर्ती जिलों को विशेष रूप से होगा।
राजे  कुशलगढ़ में मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने अपने चार दिवसीय जनसंवाद की शुरूआत जिले के सुदूर विधानसभा क्षेत्र कुशलगढ़ से की। मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद हमारी सरकार पहली ऎसी सरकार रही है, जिसने प्रदेश के अस्पतालों में डॉक्टरों की कमी दूर करने की दिशा में सार्थक प्रयास किए हैं। साथ ही, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा जैसी क्रांतिकारी योजना से गरीब तबके को निजी अस्पतालों तक में बेहतरीन इलाज निशुल्क मिल रहा है।
किसानों को मिलेगी पूरी बिजली, सरपंचों से फोन पर जानी हकीकत
जनसंवाद के दौरान कुछ आदिवासी किसानों ने बिजली आपूर्ति में ट्रिपिंग की शिकायत की। इस पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सरपंचों की लिस्ट थमाई और कहा कि वे सरपंचों से मोबाइल पर बात कर इस क्षेत्र में हो रही विद्युत आपूर्ति का फीडबैक लें। इस पर झीकली, वसूनी, रोहानिया तथा नवागांव के सरपंचों से फोन कर पूछा गया कि उन्हें कितनी बिजली मिल रही है। सरपंचों ने बताया कि उनके क्षेत्र में 6 घंटे तक थ्री-फेज तथा 20 से 22 घंटे तक सिंगल फेज बिजली मिल रही है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि किसानों को बिजली देने में कोई कोताही न बरतें।
बांसवाड़ा में 6500 करोड़ के विकास कार्य 
राजे ने कहा कि पिछले साढे़ चार साल में बांसवाड़ा जिले में 6 हजार 500 करोड़ रूपये के विकास कार्य किये गये हैं। अकेले कुशलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 2 हजार करोड़ रूपये के काम हुए हैैं। जिले में 338 किलोमीटर सड़कों के विकास के साथ-साथ 26 ग्राम पंचायतों में गौरव पथ का निर्माण भी किया गया है। भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में जिले में 19 हजार लोगों को तथा राजश्री योजना में 9 हजार बेटियों को लाभान्वित किया गया है।
पैर घसीटकर नहीं सीधा खड़ा होकर चलेगा मोहन
जनसंवाद के दौरान श्रीमती राजे ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के लाभार्थियों से बातचीत की। एक लाभार्थी मोहन ने बताया कि क्लब फुट बीमारी से पीड़ित होने के कारण वह अपने पैरों पर खड़ा होकर नहीं चल पाता था। इस योजना के तहत उदयपुर स्थित पैसेफिक मेडिकल कॉलेज में उसका निशुल्क उपचार हुआ है और अब वह अपने पैरों पर चल सकता है। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आप जल्द ही दौड़ भी सकोगे। उन्होंने भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, राजश्री योजना, दिव्यांग पेंशन, पालनहार योजना, शुभशक्ति सहायता योजना, प्रधानमन्त्री आवास योजना, उज्जवला योजना सहित विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से भी संवाद किया।
कुशलगढ़ से थांदला रेलवे स्टेशन तक बस सेवा बहाल होगी
जनसंवाद में कुछ लोगाें ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि कुशलगढ़ के नजदीकी रेलवे स्टेशन थांदला (मध्यप्रदेश) तक जाने वाली रोडवेज बस सेवा को बंद कर दिया गया है। इस कारण लोगाें को 35 किमी दूर टे्रन पकड़ने में असुविधा होती है। इस पर मुख्यमंत्री ने राजस्थान रोडवेज के अधिकारियों को यह बस सेवा बहाल करने के निर्देश दिए।
मंगलेश्वर तीर्थ का होगा विकास
लोगों ने श्रीमती राजे से पुरामहत्व के मंगलेश्वर तीर्थ के विकास की मांग की। इस पर मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस मन्दिर के विकास की योजना तैयार करें। मुख्यमंत्री ने सज्जनगढ़ में नवसृजित उपकोष कार्यालय में उपकोष अधिकारी के रिक्त पद को भरने की मांग पर तुरन्त कार्यवाही करते हुए यहां अधिकारी का पदस्थापन करने के निर्देश दिए।
लाभार्थियों को बांटी राहत
इससे पहले मुख्यमंत्री ने मेधावी छात्राओं टीना डामोर, रीना डामोर, सोनम मईडा, रीना बारिया तथा अंजलि राठौड़ को टीएडी विभाग के माध्यम से स्कूटी की चाबियां सौंपी। उन्होंने शुभशक्ति योजना में ग्राम टिमेडा छोटा झीकली के मगन सिंह, ग्राम तलाईपाडा मुन्दडी के नारहिंग कटारा तथा ग्राम सज्जनगढ़ की लक्ष्मी देवी को स्वीकृति आदेश सौंपे। साथ ही मृत्यु सहायता योजना में ग्राम परनाला के नाथूसिंह लबाना, ग्राम सारण के पीथा तथा ग्राम मुनीपाडा की हकरी को लाभान्वित किया। कृषि कूप ऊर्जीकरण योजना के अन्तर्गत ग्राम सूरजकुण्ड के मानसिंह, ग्राम खजूरा के पीथा, ग्राम पोटलिया के परबु, राजहींग, फैराडूंगरी के हीरा, गेरछाभाटडा के चन्दू कटारा तथा बडवास छोटी की मेमला को स्वीकृति आदेश प्रदान किए।
कार्यालय भवनों का लोकार्पण और शिलान्यास
मुख्यमंत्री ने एवीवीएनएल के सहायक अभियंता कार्यालय भवन, सज्जनगढ़ तथा अधिशासी अभियन्ता कार्यालय भवन कुशलगढ़ का शिलान्यास तथा सज्जनगढ़ के तहसील कार्यालय भवन, उपखण्ड कार्यालय भवन और पुलिस थाना भवन का लोकार्पण किया। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री सुशील कटारा, संसदीय सचिव भीमाभाई डामोर तथा सांसद मानशंकर निनामा सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *