ग्रीष्मकाल में पेयजल आपूर्ति की योजना अभी से तैयार रखें- सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री

जयपुर। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री एवं उदयपुर जिला प्रभारी मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने उदयपुर जिले के सर्किट हाउस में विभिन्न विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर सरकारी योजनाओं एवं विकास कार्यों के प्रभावी क्रियान्वयन पर जोर दिया। इस अवसर पर मेघवाल ने कहा कि आसन्न ग्रीष्मकाल के मद्देनजर पेयजल आपूर्ति को लेकर अभी से योजना तैयार रखें। बड़ी तालाब से प्रस्तावित पाइप लाइन का कार्य शीघ्र पूरा करवाएं ताकि गर्मी में शहरवासियों को जलापूर्ति सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में बकाया बिजली कनेक्शन शीघ्र उपलब्ध करवाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि महानरेगा के तहत रोजगार मांगने वालों को तय समयावधि में नियमानुसार रोजगार मुहैया कराने के निर्देश दिए। प्रभारी मंत्री ने इस संक्षिप्त बैठक के दौरान समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने विभाग से जुड़ी योजनाओं एवं कार्यों की प्रगति के संबंध में रिपोर्ट तैयार कर लें जिसकी समीक्षा आगामी बैठक में की जा सके। उन्होंने कहा कि जनकल्याण के कार्यों को प्राथमिकता के साथ तय समयावधि में पूरा करें। इस दौरान उन्होंने विभिन्न विभागों द्वारा चल रहे विकास कार्यों एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में पूर्ण गुणवत्ता एवं पारदर्शिता बरतने के निर्देश भी सभी अधिकारियों को दिए।

बैठक में उदयपुर जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चौधरी, अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) चांदमल वर्मा, यूआईटी के विशेषाधिकारी ओ.पी.बुनकर, जनजाति परियोजना अधिकारी के.पी.सिंह, सहित जिले के विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। इससे पूर्व उन्होंने अपने विभाग सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता के उपनिदेशक गिरीश भटनागर एवं अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर विभागीय योजनाओं की प्रगति के बारे में जानकारी ली।

देवास बेहद जरूरी

प्रभारी मंत्री ने मीडिया से बातचीत के दौरान यह स्वीकार किया कि उदयपुर की पेयजल आपूर्ति एवं पर्यटक की दृष्टि से महत्वपूर्ण झीलों में वर्ष पर्यन्त पानी भरा रखने हेतु देवास परियोजना काफी महत्वपूर्ण है। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि वे परियोजना की वस्तुस्थिति की जानकारी लेकर इसके बारे में आगे कार्यवाही हेतु प्रयास करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *