करौली: अवैध बजरी खनन से परेशान हाड़ौती के लोगों ने लगाया जाम

करौली, सर्वोच्च न्यायालय की रोक के बावजूद एलओआई क्षेत्र हाड़ौती में बनास नदी से हो रहा अवैध खनन व परिवहन ग्राम पंचायत हाड़ौती के लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। पुलिस, परिवहन, खनिज व वन विभाग की बजरी माफियाओं से मिलीभगत के कारण क्षेत्र की सड़कों पर बेखौफ दौड़ रहे बजरी से ओवरलोड वाहन दुर्घटना का पर्याय बन चुके हैं। इसके विरोध में दर्जनों ग्रामीणों ने रात्रि करीब 8 बजे हाड़ौती कस्बे में ट्रैक्टर की आड़ लगाकर आवागमन बंद कर दिया। वहीं कस्बे के व्यापारियों ने समर्थन में उतरते हुऐ बुधवार को कस्बे के बाजारों को भी बंद कर विरोध प्रदर्शन जारी रखा।

ग्रामीणों का आरोप है कि हाड़ौती बनास नदी के भूरी पहाड़ी, श्यामौली, हाड़ौती, काठड़ा घाटे से बजरी माफियाओं द्वारा अवैध रूप से बजरी खनन कर प्रशासन की मिलीभगत से करीब 600-700 ट्रैक्टर-ट्रॉलियों व डंफरों में ओवरलोड़ बजरी भरकर परिवहन किया जा रहा है। इसके कारण गत दिनों कुड़गांव थाने के थूमा गांव के पास बजरी से ओवरलोड़ भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली की टक्कर से युवक की मौत होने के साथ कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। आपको बता दें कि बजरी से ओवरलोड वाहनों का अधिकांश परिवहन रात्रि के समय होता है। उल्लेखनीय है कि हाड़ौती-सवाई माधोपुर सड़क को रात्रि 8 बजे जाम करने के बाबजूद अभी तक पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के नहीं पहुंचने से ग्रामीणों में गहरा रोष है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *