राष्ट्रीय सहकार मसाला मेला सम्पन्न: जयपुरवासियां ने खरीदे एक करोड़ 50 लाख रुपये से अधिक के मसाले

जयपुर। जयपुरवासियों ने यहां जवाहर कला केन्द्र पर आयोजित ग्यारह दिवसीय राष्ट्रीय सहकार मसाला मेले में 1.50 करोड़ रुपये से अधिक के मसालों की खरीद की। 10 मई से प्रारम्भ हुये मेले का सोमवार 20 मई को समापन हो गया है। सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार डॉ. नीरज के. पवन ने श्रेष्ठ स्टॉलों को प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। रजिस्ट्रार डॉ. नीरज के. पवन ने बताया कि सहकार मसाला मेले का वास्तविक लाभ किसानों और आम उपभोक्ताओं तक पहुंचाने के लिए सहकारी संस्थाओं के विशेष उत्पाद शीघ्र ही सहकारिता के भण्डारों पर उपलब्ध कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि पडौसी राज्यों की सहकारी समितियां के विशेष उत्पाद आमजन को उपलब्ध कराये जायेंगे।
रजिस्ट्रार ने कहा कि प्रदेश में सहकारिता सीधे रूप में 3 करोड़ से अधिक लोगों से जुडी हुई है और यह उनकी मुस्कराहट का एक कारण है। उन्होंने कहा कि हम सहकारी संस्थाओं को आमजन की आवश्यकताओं के अनुसार तैयार करेंगे और उन्हें वन स्टॉप के रूप में विकसित कर एक ही छत के नीचे गुणवत्तापूर्ण उत्पाद एवं सेवायें उचित मूल्य पर उपलब्ध करायेंगे।
उन्होंने बताया कि सहकार मसाला मेले में सर्वाधिक बिक्री के लिए अन्य प्रदेशों में केरल स्टेट कोऑपरेटिव मार्केटिंग फैडरेशन, शीर्ष संस्थाओं में उपभोक्ता संघ, जिला भण्डारों में कोटा़ सहकारी उपभोक्ता भण्डार व क्रय विक्रय सहकारी समितियों में बांसवाड़ा तथा महिला सहकारी समिति में मारवाड़ प्राथमिक महिला सहकारी समिति ने पहला स्थान प्राप्त किया।
पवन ने बताया कि सहकार मेलों के माध्यम से आमआदमी तक सहकारी उत्पादों की पहुंच होने लगी है और इससे सहकारिता की विश्वसनीयता बढ़ी है, उपभोक्ताओं को फायदा होता है और सहकारी संस्थाओं के कारोबार में बढ़ोतरी होती है। उन्होंने राष्ट्रीय सहकार मसाला मेला की सफलता के लिए जयपुरवासियों, मीडिया एवं इससे जुड़े अधिकारियों व कार्मिकों को बधाई दी। रजिस्ट्रार ने बताया कि सहकार मसाला मेले को जयपुरवासियों के प्रेम और रेस्पांस से सहकारी संस्थाओं मे नया उत्साह आया है। उन्होंने बताया कि सहकार मेले से सहकारी संस्थाओं में व्यावसायिक समझ पैदा हुई है।
उन्होंने बताया कि 10 मई से आयोजित सहकार मेले में कारोबार एवं डिसप्ले की दृष्टि से समितियों को पुरस्कृत किया गया है। इनमें डिसप्ले के आधार पर राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं में प्रथम स्थान पर कृभको, द्वितीय स्थान पर मार्केटफैड केरल, शीर्ष संस्थाओं में प्रथम तिलम संघ व उपभोक्ता संघ द्वितीय स्थान पर रहा। इसी तरह से जिला उपभोक्ता भण्डारों की श्रेणी में श्री गंगानगर, भीलवाड़ा व जोधपुर क्रमशः पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। महिला समितियों में कैथून महिला हाथकरघा, दिगम्बर जैन एवं ज्योति महिला क्रमशः पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर रही। बीकानेर, जोधपुर एवं भरतपुर को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए पुरस्कृत किया गया। उपभोक्ता संघ के प्रबंध संचालक श्री संजय गर्ग ने स्वागत एवं मेला आयोजन कमेटी के संयोजक श्रीमती सोनल माथुर ने आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *