.चिकित्सा संस्थानों के कायाकल्प हेतु वार्षिक कार्ययोजना बनाकर करें कार्य

जयपुर। प्रदेश के सभी चिकित्सा संस्थानों में मरीजों को दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं की गुणवत्ता सुनिश्चित करने हेतु आवश्यक साफ-सफाई, बायोमेडिकल वेस्ट प्रबंधन, संक्रमण प्रबंधन, लेबर रूम नियमावली आदि सुनिश्चित करने के लिये जिलों में कायाकल्प की र्वाषिक कार्ययोजना बनाकर कार्य किया जायेगा।  विशिष्ट शासन सचिव एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. समित शर्मा ने सोमवार को स्वास्थ्य भवन में आयोजित वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कायाकल्प एवं क्वालिटी एश्योरेंस कार्यक्रम की विस्तार से समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। वीडियो कांफ्रेंस में संयुक्त निदेशक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी, बीसीएमओ, सीएचसी-पीएचसी प्रभारी, डीपीएम, बीपीएम, हैल्थ मैनेजर, पीएचएम ने हिस्सा लिया । डॉ. शर्मा ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को अभियान चलाकर 26 जनवरी से पूर्व सभी कार्यालयों-चिकित्सालयों में पड़े पुराने या नाकारा सामग्री का निस्तारण करने के निर्देश दिये हैं। साथ ही जिला स्तर पर जिला कलक्टर की अध्यक्षता में निर्धारित समयावधि में क्वालिटी एश्योरेंस कमेटी तथा उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की अध्यक्षता में क्वालियी एश्योरेंस यूनिट की बैठकें आयोजित करने की आवश्यकता पर बल दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *